.नई दिल्ली,21 जनवरी। वैश्विक महामारी कोरोना वायरस (कोविड-19) की वैक्सीन ‘कोविशील्ड’ बनाने वाली महाराष्ट्र के पुणे स्थित सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया के मंजरी प्लांट में आज (21 जनवरी) दोपहर करीब दो बजे आग लग गई।

मामले की जानकारी मिलने के बाद दमकल की 15 गाड़ियां मौके पर पहुंच गईं, जिन्होंने करीब तीन घंटे की मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया। बताया जा रहा है कि इस हादसे में पांच कर्मचारियों की मौत हो गई।इनमें से दो लोग यूपी के थे. दो पुणे से और एक व्यक्ति बिहार का रहने वाला था ।

इस हादसे में कोविड वैक्सीन कोविशील्ड को तो कोई नुकसान नहीं पहुंचा, लेकिन टीबी से संबंधित वैक्सीन जलने की सूचना है। दरअसल, मंजरी प्लांट में बीसीजी की वैक्सीन बनाने का काम हो रहा था।

वहीं, इस घटना पर प्रधानमंत्री मोदी ने दुख जताते हुए कहा कि सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया में आग की वजह से हुई मौतों से बेहद दुखी हूँ। इस दुख की घड़ी में मेरी संवेदनाएं उन लोगों के परिवारों के साथ हैं जिन्होंने अपनी जान गंवाई। मैं प्रार्थना करता हूं कि घायल लोग जल्द से जल्द ठीक हों।

एसआईआई के मुख्य कार्यकारी अधिकारी अदार पूनावाला ने ट्वीट कर कहा,‘‘ हमें अभी कुछ परेशान करने वाले अपडेट मिले हैं। आगे की जांच में हमें पता चला है कि दुर्भाग्य से घटना में जानमाल का नुकसान हुआ है। हमें गहरा दुख हुआ है और दिवंगतों के परिजनों के प्रति हमारी गहरी संवेदना है।”

सूत्रों के मुताबिक आग लगने के कारण कोविशील्ड वैक्सीन के उत्पादन पर कोई असर नहीं हुआ है। श्री पूनावाला ने एक अन्य ट्वीट में कहा, ‘‘मैं सभी सरकारों और जनता को आश्वस्त करना चाहूंगा कि बहु स्तरीय उत्पादन भवनों के कारण कोविशील्ड उत्पादन को कोई नुकसान नहीं होगा, जो मैंने संयंत्र पर इस तरह की आकस्मिकताओं से निपटने के लिए रखा था। पुणे शहर पुलिस और अग्निशमन विभाग का बहुत-बहुत धन्यवाद।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here