तेजस्वी का नीतीश पर तंज,असली गुनाहगार आप है। आपने मंत्री क्यों बनाया?आपका दोहरापन और नौटंकी अब चलने नहीं दी जाएगी।

मेवालाल चौधरी के इस्तीफा देने के बाद शिक्षा विभाग का प्रभार अशोक चौधरी को दे दिया गया है. फिलहाल शिक्षा विभाग का भी प्रभार उनके पास रहेगा. 

भ्रष्टाचार   के आरोपी शिक्षा मंत्री मेवालाल चौधरी ने कार्यभार संभालने के तीन घंटा बाद दिया इस्तीफा

पटना,19 नवम्बर : बिहार के शिक्षा मंत्री मेवालाल चौधरी ने  आज इस्तीफा दे दिया है. मेवालाल चौधरी ने आज ही पदभार ग्रहण किया था. इसके बाद आज अचानक मेवालाल ने इस्तीफा दे दिया है. शपथ लेने के बाद मेवालाल ने कहा कि कोई भी केस तब साबित होता है जब आपके खिलाफ़ कोई चार्जशीट हुई हो या कोर्ट ने कुछ फैसला किया हो. न हमारे खिलाफ अभी कोई चार्जशीट हुई है न ही हमारे ऊपर कोई आरोप दर्ज़ हुआ है.

मेवालाल पर घोटाला का आरोप

बिहार के नये शिक्षा मंत्री बने मेवालाल चौधरी पर कृषि विश्वविद्यालय के कुलपति रहते नौकरी में भारी घोटाला करने का आरोप है. उनके खिलाफ प्राथमिकी दर्ज है.
  राष्ट्रपति रामनाथ कोबिंद ने बिहार का राज्यपाल रहते मेवालाल चौधरी के खिलाफ जांच करायी थी और उन पर लगे आरोपों को सच पाया था. ये जांच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की पहल पर हुई थी. मेवालाल चौधरी पर सबौर कृषि विश्वविद्यालय के भवन निर्माण में भी घोटाले का आरोप है.

उन्होंने कहा कि मेवालाल चौधरी के इस बड़े घोटाले के खिलाफ सत्तारूढ जेडीयू के नेताओं ने भी आवाज उठायी थी. विधान परिषद में जेडीयू विधान पार्षदों ने मेवालाल चौधरी के खिलाफ हंगामा ख़ड़ा कर दिया था. बीजेपी के नेता सुशील कुमार मोदी ने इसे जोर शोर से उठाया था. सुशील कुमार मोदी सबूतों का पुलिंदा लेकर तत्कालीन राज्यपाल रामनाथ कोबिंद से मिले थे. इसके बाद जांच हुई और जांच में पाया गया कि मेवालाल चौधरी ने कृषि विश्वविद्यालय का कुलपति रहते बड़ा घोटाला किया. ये घोटाला 161 सहायक प्राध्यापकों की नियुक्ति में हुआ था. मेवालाल चौधरी पर लगे आरोपों को लेकर विपक्षी पार्टियां लगातार सरकार पर हमला बोल रही हैं.
मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बुधवार को देर शाम मेवालाल को तलब भी किया था .

उधर तेजस्वी यादव ने  मेवालाल चौधरी के इस्तीफा के बाद सीएम नीतीश कुमार पर तंज कसा है। उन्होंने कहा कि असली गुनाहगार आप है। आपने मंत्री क्यों बनाया?आपका दोहरापन और नौटंकी अब चलने नहीं दी जाएगी।. मुख्यमंत्री जी,जनादेश के माध्यम से बिहार ने हमें एक आदेश दिया है कि आपकी भ्रष्ट नीति, नीयत और नियम के खिलाफ आपको आगाह करते रहें। महज एक इस्तीफे से बात नहीं बनेगी। अभी तो 19 लाख नौकरी,संविदा और समान काम-समान वेतन जैसे अनेकों जन सरोकार के मुद्दों पर मिलेंगे। जय बिहार,जय हिन्द

मैंने कहा था ना आप थक चुके है इसलिए आपकी सोचने-समझने की शक्ति क्षीण हो चुकी है।

जानबूझकर भ्रष्टाचारी को मंत्री बनाया
थू-थू के बावजूद पदभार ग्रहण कराया
घंटे बाद इस्तीफ़े का नाटक रचाया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here