पटना,15 अक्तूबर : बिहार के उपमुख्यमंत्री एवं भाजपा के वरिष्ठ नेता सुशील कुमार मोदी ने राष्ट्रीय जनता दल के अध्यक्ष लालू प्रसाद और उनके दोनों बेटे तेज प्रताप यादव और तेजस्वी यादव पर जमकर निशाना है. उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी ने आज बिहार विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव और उनके भाई तेज प्रताप यादव पर अवैध संपत्ति के मामले को लेकर फिर हमला बोला है.

भाजपा मीडिया सेंटर में आयोजित प्रेस वार्ता में उन्होंने कहा कि तेजस्वी यादव बिना किसी नौकरी या व्यापार के ही करोड़ों के मालिक बन गये हैं. यह कैसे संभव हुआ।तंज कसा कि इसके टिप्स उन्हें युवाओं को देना चाहिए. इससे लाखों नौजवानों को नौकरी देने की जरूरत ही नहीं पड़ेगी. उन्होंने कहा कि नामांकन दाखिल करने में शपथपत्र में गलत जानकारी देने के मामले की शिकायत वे चुनाव आयोग से करेंगे. ऐसे इस तरह के मामलों में आयकर विभाग और ईडी को भी संज्ञान लेना चाहिए.

डिप्टी सीएम ने कहा कि इस चुनाव में भ्रष्टाचार भी बड़ा मुद्दा बनेगा. इतनी कम उम्र में तेजस्वी यादव 52 और तेज प्रताप यादव 31 से ज्यादा संपत्ति मालिक कैसे बन गये. इसका जवाब आम लोगों को देना होगा. नौवीं पास तेजस्वी यादव क्रिकेट में भी विफल रहे हैं. लालू प्रसाद का भ्रष्टाचार बनाम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की स्वच्छ छवि की तुलना सार्वजनिक मंच पर की जायेगी.

सुशील मोदी ने कहा कि लॉकडाउन के कारण आइआरसीटीसी घोटाला मामले का ट्रायल शुरू नहीं हो पाया है. कोर्ट की कार्यवाही शुरू होने के बाद इस मामले का ट्रायल शुरू होगा और इस केस के आरोपित तेजस्वी यादव को ट्रायल से गुजरना होगा. इन लोगों के खिलाफ पर्याप्त साक्ष्य हैं और इनका जेल जाना तय माना जा रहा है.

उपमुख्यमंत्री ने कहा कि तेजस्वी यादव ने जो शपथ-पत्र दाखिल किया है. उसमें चार करोड़ 10 लाख रुपये अनसिक्योर ऋण के रूप में एक देसी कंपनी को दिया है. पांच साल पहले 2015 के शपथ-पत्र में उन्होंने एक करोड़ सात लाख रुपये का ऋण दिखाया था. पांच साल में बिना किसी आमदनी के उनके पास तीन करोड़ रुपये कहां से आ गये, जो उन्होंने लोन के तौर पर दिया है.

उन्होंने कहा कि जिन दो संपत्तियों को उन्होंने शपथ-पत्र में अपने पैसे से खरीदा हुआ दिखाया है. उसमें गोपालगंज में एनएच की बगल में तीन मंजिला मकान उन्हें स्व. रघुनाथ झा ने 2005 में और चितकोहरा स्थित मकान को कांति सिंह ने गिफ्ट किया था. फिर इस गिफ्टेड मकान की गलत जानकारी उन्होंने शपथ-पत्र में कैसे दे दी. तेजस्वी यादव पर चीटिंग, मनी लॉड्रिंग और बेनामी संपत्ति के मुकदमे दर्ज हैं, जिसका जिक्र उन्होंने अपने शपथ-पत्र में नहीं किया है.

उपमुख्यमंत्री श्री सुशील कुमार मोदी के प्रेस कान्फ्रेंस के मुख्य बिन्दु
पटना, 15.10.2020
आमदनी अठन्नी, परन्तु 4 करोड़ का ऋण दिया

  • 4 करोड़ 10 लाख का ऋण किस कम्पनी को दिया और ऋण देने के लिए पैसा कहां से आया? (2020)
  • 2015 के Affidavit में दिखाया कि 1 करोड़ 7 लाख का लोन किसी भारतीय कम्पनी को दिया।
  • आखिर बिना किसी नौकरी, व्यवसाय के इतना पैसा कहां से आया कि किसी अन्य को 4 करोड़ 10 लाख का ऋण दिया।
  • फिर 5 साल में 3 करोड़ की कहां से आमदनी हुई कि 4 करोड़ 10 लाख का ऋण दिया गया।

रघुनाथ झा एवं कान्ति सिंह से टिकट/मंत्री पद के बदले गिफ्ट में प्राप्त सम्पत्ति को खरीद की सम्पति बता रहे हैं-

  1. स्व. रघुनाथ झा ने 2005 में गोपालगंज में एनएच के पास दो मंजिला मकान तेजस्वी और तेजप्रताप को 15 वर्ष की आयु में गिफ्ट कर दिया।
  2. कान्ति सिंह ने 2005 में पटना के चितकोहरा में G +2 मकान गिफ्ट कर दिया।

परन्तु,

  1. गोपालगंज के 2 मंजिला मकान को केवल ग्राउंड फ्लोर का Affidavit में दिखाया जा रहा है।
  2. जो सम्पत्ति गिफ्ट में प्राप्त हुई उसे 2005 में खरीदी हुई दिखाई जा रही है।

आखिर 31 साल की उम्र में तेजस्वी यादव 52 एवं तेजप्रताप 28 से ज्यादा सम्पत्ति के मालिक कैसे बनगए?

  • जब कोई पुश्तैनी सम्पत्ति नहीं थी
  • नौंवी तक मुश्किल से पढ़ाई कर पाए
  • क्रिकेट में भी विफल रहे
  • न कोई नौकरी की, न व्यवसाय किया
    आखिर ऐसी क्या योग्यता थी जिसके बलबूते करोड़ों की सम्पत्ति के मालिक बन गए।

जब्त सम्पत्ति
Delite Marketing- (4)- 27.75 dec.
A K Infosystems – (10)
A B Export- D- 1088 New Friend Colony, Delhi
Fairgrow- टाटा स्टील का पटना का गेस्ट हाउस

  • IRCTC घाटाले में Charge sheeted हैं। लॉकडाउन के कारण ट्रायल प्रारंभ नहीं हो पाया।
  • भ्रष्टाचार से जुड़े मामले में ( IRCTC घोटाला) बेल पर हैं।
  • इस मामले में जेल सुनिश्चित है।
  • लालू प्रसाद की जिन्दगी का बड़ा हिस्सा जेल में बीत गया, तेजस्वी यादव को भी लम्बे समय तक जेल में रहना पड़ेगा।
  • धोखाधड़ी ¼Cheating) Criminal Conspiracy, Money Laundering, Beneficial owner (सम्पत्ति स्वयं की, परंतु दूसरे के नाम से प्रदर्शित) का मुकदमा चल रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here