जमुई, 04 सितम्बर:– जमुई जिला पुलिस को बड़ी कामयाबी हासिल हुई है . कजरा नक्सली वारदात के मास्टर माइंड अनिल कोड़ा को गिरफ्तार कर लिया गया है, जबकि उसकी पत्नी प्रिया देवी ने पुलिस के सामने आत्मसमर्पण किया है.

समाहरणालय स्थित संवाद कक्ष में पुलिस अधीक्षक प्रमोद कुमार मंडल ने मीडिया को बताया कि बीते गुरुवार को सूचना प्राप्त हुई कि बरहट डैम के पास के पास कुछ नक्सली मौजूद हैं. इसी संदर्भ में मुंगेर प्रक्षेत्र के डीआइजी मनु महाराज के निर्देशानुसार अपर पुलिस अधीक्षक (अभियान) जमुई के नेतृत्व में नक्सल आपरेशन सेल, बरहट थानाध्यक्ष तथा जिला पुलिस बल की विशेष दल द्वारा सघन छापेमारी अभियान चलाया गया.

इसी क्रम में बरहट डैम के पास संदिग्ध हालत में एक व्यक्ति की गिरफ्तारी हुई. पुलिस बल द्वारा पूछे जाने पर गिरफ्तार व्यक्ति ने अपना नाम अनिल कोड़ा उर्फ पप्पू पासवान, पिता- बाबूलाल कोड़ा, साकिन- कुमरतरी, थाना बरहट से भाकपा माओवादी का सक्रिय सदस्य बताया. दूसरी ओर पति की गिरफ्तारी के बाद उसकी पत्नी प्रिया देवी उर्फ़ गुड़िया पासवान ने पुलिस के सामने आत्मसमर्पण कर दिया.
बताते चलें कि अनिल कोड़ा वर्ष 2010 में कजरा जंगल में बीएमपी व सेप जवानों के हथियार लूटे तथा कई पदाधिकारियों की हत्या भी की. वर्ष 2013 में गरही, परासी गांव में सामुदायिक भवन को उड़ाया तथा पुलिस बल एवं एसटीएफ बल को जाने के क्रम में गीदेश्वर मंदिर के पास हमला किया, जिसमें 1 जवान सहित 2 घायल हो गए. लखीसराय जिला के कुंदर हाल्ट के पास धनबाद पटना इंटरसिटी को रोक कर सुरक्षा बलों का हथियार लूटा तथा हत्या को अंजाम दिया. वर्ष 2013 में ही जमालपुर के काली पहाड़ी समीप भागलपुर इंटरसिटी को लूटा तथा सुरक्षा बलों के हथियार लूटे. 2014 में गिधेश्वर जंगल में पुलिस बल से मुठभेड़ हुई.देखा जाय तो उसके अन्य नक्सली घटनाओं में बरहट के तीन कांड, चंद्र मंडी थाना के एक कांड, चकाई थाना के एक कांड, जमुई थाना के एक कांड, खैरा थाना के सात कांड, सोनो, चरका पत्थर थाना के दो कांड, लखीसराय जिला के कजरा, चानन, पीरी बाजार के एक-एक कांड तथा लगभग 10 अन्य नक्सली कांडों जैसे 25 घटनाओं में अपनी संलिप्तता स्वीकार की है. जबकि उसकी पत्नी प्रिया देवी ने भी वर्ष 2013 में गरी के परासी गांव में सामुदायिक भवन उड़ाने, घटनास्थल पर पुलिस बल एवं एसटीएफ पर हमला करने तथा लखीसराय जिला के कुंदर हाल्ट के पास धनबाद पटना इंटरसिटी को लूटने और सुरक्षाबलों को नुकसान पहुंचाने में अपनी संलिप्तता बताई.
पुलिस अधीक्षक ने नक्सलियों को मुख्यधारा में जुड़ने तथा आत्मसमर्पण नीति के व्यापक प्रचार-प्रसार को बढ़ावा देने पर बल दिया,जबकि मुख्यधारा से अलग नक्सली गतिविधियों को सख्ती से निपटने की बात कही. आयोजित प्रेस वार्ता में अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी डॉ राकेश कुमार, मुख्यालय डीएसपी लाल बाबू यादव, अपर पुलिस अधीक्षक (अभियान) सुधांशु कुमार ने हिस्सा लिया ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here