नई दिल्ली,28 अगस्त.सुप्रीम कोर्ट ने आज कोरोना महामारी और बाढ़ की वजह से बिहार चुनाव टालने का आदेश देने से इनकार कर दिया है।

न्यायमूर्ति अशोक भूषण, न्यायमूर्ति आर सुभाष रेड्डी और न्यायमूर्ति एम आर शाह की तीन सदस्यीय पीठ ने वीडियो कांफ्रेंस के जरिये याचिका पर सुनवाई करते हुये कहा कि निर्वाचन आयोग सारे पहलुओं पर विचार करेगा। पीठ ने कहा कि अभी तक विधान सभा चुनाव के लिये कोई अधिसूचना भी जारी नहीं हुयी है। ऐसी स्थिति में यह याचिका समय पूर्व है। पीठ ने कहा कि यह समय से पूर्व दायर की गई याचिका है क्योंकि विधानसभा चुनावों के लिए अब तक कोई अधिसूचना जारी नहीं की गई है।
अदालत ने कहा, ‘‘चुनाव आयोग ने नोटिफिकेशन भी जारी नहीं किया है, ऐसे में अभी से कोई आकलन करना सही नहीं होगा।’’ कोर्ट ने इस संबंध में दायर की गई जनहित याचिका खारिज कर दी।

बिहार में इस साल अक्टूबर-नवम्बर में विधान सभा चुनाव होने हैं।

। शुक्रवार को अविनाश ठाकुर की याचिका को खारिज करते हुए कोर्ट ने निर्वाचन आयोग को चुनाव कराने की अनुमति दे दी है। कोर्ट ने ये भी कहा कि चुनाव रोकने के लिए दायर की गई याचिका का इरादा गलत है, चुनाव को किसी भी कीमत में टाला नहीं जा सकता। कोर्ट ने कहा कि चुनाव कराने की आजादी चुनाव आयोग के पास है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here