पटना, 02 अगस्त.पटना हाईकोर्ट के वरीय अधिवक्ता अवधेश कुमार पाण्डेय ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से कोरोना काल में अधिवक्ता समाज की आर्थिक हालत देख मदद और देश-भर के 22 अधिवक्ताओं को आयु्ष्यमान योजना में शामिल करने की मांग की है.( देखें स्मारपत्र)

सेवा मे,
माननीय प्रधानमंत्री महोदय,
भारत सरकार,
विषय:भारत के अधिवक्ताओं को आयुष्मान योजना में जोड़ने और आर्थिक मदद देने के संबंध में।
महोदय,
आज कोविद्-19 से पूरे विश्व में त्राहिमाम मचा है तथा लोगों की आर्थिक स्थिति भी दिनों दिन कमजोर होती जा रही है। आज कोरोना का प्रभाव सभी लोगों पर है, वे चाहे जो हो। इससे समाज का बुद्धिजीवी, और न्याय का स्तंभ कहलाने वाला अधिवक्ता समाज काफी प्रभावित हुआ है।
जब केंद्र में कांग्रेसी सरकार थी तब एडवोकेट एक्ट बना था, उस समय बड़े घराने के लोग वकील हुआ करते थे। इसलिये अधिवक्ता समाज के लिये आर्थिक मदद की बात एक्ट में कहीं नहीं है , यानी इस पर कुछ सोचा ही नहीं गया कि वर्तमान स्थिति होने पर अधिवक्ता समाज के लिये सरकार के द्वारा क्या किया जायेगा।
अगर कोरोना का आतंक इस तरह से बढ़ते रहा तो वकालत पेशा में केवल बड़े घराने के लोग ही रह जायेंगे तथा बाकी लोग घर बैठ जायेंगे तथा फिर न्यायपालिका पर कुछ खास ही लोगों का वर्चस्व स्थापित हो जायेगा।
आज इस पेशा में सभी सभी तरह के परिवार के लोग आ रहे हैं। इनके जीविका का साधन वकालत ही है। देखा गया है कि अगर कुछ दिन कोर्ट बंद हो जाता है तो कितने अधिवक्ता बंधुओं के यहाँ भोजन के लिये भी परेशानी हो जाती है। दवा ईलाज तो बड़ी बात है। हमलोग देखें हैं कि अधिवक्ता समाज के कितने लोग दवा ईलाज के अभाव में मर गये हैं।
आज लगभग पांच माह से कोर्ट बंद है। हमलोगों के पेशा वाले लोगों की जो स्थिति है, उसे शब्दों से बयां करना मुश्किल है। बहुत लोग तो अपनी आर्थिक स्थिति कमजोर हो जाने के चलते अपने गांव चले गये हैं तथा वहाँ भी आर्थिक कठिनाई झेल रहे हैं। वे दूसरा धंधा भी नहीं कर सकते क्योंकि कि कानून की बाध्यता है।
हमलोगों का समाज कभी नहीं सोचा था कि उसकी ऐसी स्थिति होगी। देश में लगभग 22 लाख अधिवक्ता हैं।
अब, आज अधिवक्ता समाज को किसी पर भरोसा है तो वे आप हैं, क्योंकि आपके नेतृत्व में जो हो रहा है, उसकी कल्पना भी कोई नहीं किया था। आपने अपने कार्यकाल में हरेक दृष्टिकोण से सभी समुदाय के लोगों का सहारा बने हैं और हर संभव मदद किये हैं।
कोरोना काल में भी आपका जो प्रयास अपने देश के लोगों की सुरक्षा के लिये किया जा रहा है, उसे शब्दों से वर्णन नहीं किया जा सकता है। अधिवक्ता समाज न्यायपालिका का एक अभिन्न अंग है तथा इसकी सुरक्षा न्यायपालिका की सुरक्षा है, इसलिये मैंने दल के एक कार्यकर्ता होने के चलते अपने लोकप्रिय प्रधान मंत्री जी के यहाँ अधिवक्ता समाज के कष्टों के बारे में बताना उचित समझा।
मेरा आपसे आग्रह और नम्र निवेदन है कि अधिवक्ताओं को भारत सरकार के आयुष्मान योजना से जोड़ने का प्रयास किया जाय ताकि ये समाज दवा और ईलाज के अभाव नहीं मरे। साथ ही आपसे ये भी निवेदन है कि अधिवक्ताओं के लिये कम से कम तीन लाख बिना ब्याज का लोन की व्यवस्था करायी जाय ताकि इनका परिवार भूखा नहीं रहे।

अवधेश कुमार पांडेय
अधिवक्ता, पटना हाई कोर्ट
पूर्व संयोजक लीगल सेल बीजेपी बिहार
प्रदेश कार्यसमिति सदस्य बीजेपी बिहार
प्रतिलिपि :माननीय स्वास्थ्य मंत्री भारत सरकार, मुख्य मंत्री बिहार सरकार, उप मुख्यमंत्री बिहार सरकार, स्वास्थ्य मंत्री बिहार सरकार.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here