बंटी पाण्डेय की रिपोर्ट

नवादा,30 जुलाई.नवादा जिला में कोरोना महामारी की चुनौतियों एवं उसके निदान के विषय पर गुरूग्राम से फोर्टिस मेमोरियल रिसर्च इन्स्टीच्यूट के निदेशक डॉ राहुल भार्गव के द्वारा वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से जिला पदाधिकारी यश पाल मीणा, उप विकास आयुक्त वैभव चौधरी एवं जिला के सभी पीएचसी स्तर पर उपस्थित डॉक्टर्स को संबोधित कर अपना अनुभव साझा किया गया।

डॉ राहुल भार्गव देश के जाने माने डॉक्टरों में से एक हैं.वे देश में ही नहीं बल्कि विदेशों में भी अपना परचम लहरा चुके हैं। डॉ राहुल स्वयं कोरोना को मात देकर कोरोना विशेषज्ञ बने हैं। देश भर में कोरोना महामारी अपना पैर पसारता जा रहा है। इस बीमारी पर अंकुश लगाने के लिए वे दृढ़ संकल्पित हैं।

इस दौरान डॉ भार्गव नवादा जिले में कोरोना महामारी की स्थिति से अवगत हुए एवं इससे सुरक्षा हेतु अनेकों उपाय बताये। प्रेजेंटेशन के माध्यम से कोरोना के बारे में उन्होंने विस्तृत जानकारी दी। उन्होंने कोरोना से लड़ाई लड़ने के अनेकों गुर सिखाये।

उन्होंने कहा कि जिस व्यक्ति को बुखार, सांस फुलना, बदन में दर्द हो तो उसे नजदीकी स्वास्थ्य केन्द्र में एडमिट कराकर अविलम्ब भेंटीलेटर, ऑक्सीजन की व्यवस्था कर इलाज शुरू करें एवं उसे आवश्यक दवा देते रहें। कोरोना को मात देने के लिए मास्क लगाना अनिवार्य है। इस कोरोना काल में मास्क हर हाल में लगायें एवं अपने हाथों को साबुन से धोते रहें साथ ही सेनिटाइजर भी लगाते रहें। मास्क पहनने के लिए जन आन्दोलन चलायें साथ ही कोरोना पोजेटिव को होम कोरेन्टाइन सेंटर में रखने की सलाह दी। मात्र मास्क पहनने से ही दस दिनों में कोरोना निगेटिव हो जायेगा।

उन्होंने कहा कि कोरोना के लक्षण होने पर कोरोना टेस्ट जरूर करायें। उन्होंने कहा कि कोविड-19 से सुरक्षा हेतु अगले 12 महीनों तक पूरी तैयारी के साथ समर्पित भाव से कार्य करना होगा।

इस अवसर पर जिला पदाधिकारी यश पाल मीणा द्वारा जिले के कोरोना के सुरक्षा से संबंधित जिले भर में की जा रही उपलब्धियों से अवगत कराया गया। जानकारी देते हुए उन्होंने कहा कि सभी पीएचसी स्तर, अनुमंडल एवं जिला स्तर पर रैपिड एन्टीजेन किट के माध्यम से सैम्पल की जांच की जा रही है। जिला भर में 1215 पोजिटिव में से 1015 रिकवर्ड हो चुके हैं। 231 में से 180 एक्टिव को होम आइसोलेशन में रखा गया है जिनकी देख-रेख प्रतिदिन नियंत्रण कक्ष के माध्यम से की जा रही है। जिला भर में कोविड से 03 मृत हुए हैं। आवश्यक दवा एवं ऑक्सीजन पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध हैं। 1200 बेड की आइसोलेशन वार्ड बनाया गया है।

डॉ0 भार्गव ने नवादा जिले में कोविड-19 से सुरक्षा हेतु जिला स्तर के सभी पदाधिकारियों के कार्यां को सराहा। उन्होंने कहा कि वे अन्य राज्यों के जिले के कार्यां को देखा है जिसमें नवादा जिला की तैयारी काफी अच्छी है। उन्होंने कहा कि कोरोना के लड़ाई में परिश्रम एवं एक दूसरे की सहायता करें। भय का माहौल न पैदा होने दें। उन्होंने शपथ दिलायी कि ’’हम सभी जिलावासी मिलकर कोरोना को हरायेंगे, देश भर में नवादा जिला को रौल मॉडल बनायेंगे।’’ हम सभी जिलावासी डॉ भार्गव के बताये नियमों का पालन करेंगे, जिससे कोरोना को मात दिया जा सके। इस अवसर पर प्रभारी सिविल सर्जन डॉ आशोक कुमार, डीपीआरओ गुप्तेश्वर कुमार, सभी पी0एच0सी0 अनुमंडल एवं जिला स्तर के डॉक्टर्स उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here