वैक्सीन के क्लीनिकल ट्रायल का बुधवार से दूसरा कोर्स शुरू.

पटना,29 जुलाई. केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्य मंत्री अश्विनी कुमार चौबे ने एम्स पटना द्वारा कोविड-19 की मौजूदा स्थिति एवं भविष्य की तैयारियों पर वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए समीक्षा की। इस दौरान एम्स मामलों के संयुक्त सचिव सुनील शर्मा भी उपस्थित थे। पटना एम्स द्वारा कोविड-19 को लेकर अभी तक उठाए गए कदमों एवं भविष्य की तैयारियों को एक प्रजेंटेशन के जरिए केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री के सामने रखा गया।
केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री श्री चौबे ने वैक्सीन के क्लीनिकल ट्रायल की भी जानकारी ली। बुधवार से क्लीनिकल ट्रायल का दूसरा कोर्स शुरू हो गया है। केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री ने कोरोना पीड़ितों का भी हालचाल जाना। सभी मूलभूत सुविधाओं की भी समीक्षा की गई। दवाइयों की उपलब्धता की जानकारी भी ली गई। रेमेडिसिवर जैसी दवा की उपलब्धता कैंपस में भी हो, इस ओर दिशा निर्देशों के तहत ध्यान में रखते हुए कदम उठाने को निर्देशित किया गया। ताकि मरीजों को किसी तरह की परेशानी का सामना ना करना पड़े।

केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री श्री चौबे ने सुझाव दिया कि कोरोना पीड़ितों को मनोवैज्ञानिक तौर से भी मजबूत बनाने के लिए लगातार मनोचिकित्सक संपर्क में रहें। साथ ही कोरोना से ठीक हुए मरीज अगर वह इच्छुक हैं तो प्लाज्मा डोनेशन के लिए एक फॉर्म भरने के लिए उन्हें प्रेरित किया जाए। ताकि एक निश्चित समय अवधि के बाद वे अपना प्लाज्मा डोनेशन करने के लिए प्रेरित हो सकें। ऑडियो और वीडियो के माध्यम से प्लाज्मा डोनेशन के लाभ और उसकी उपयोगिता के बारे में भी प्रचार प्रसारित किया जाए। इसकी भी व्यवस्था का केंद्रीय स्वास्थ्य राज्यमंत्री ने सुझाव दिया। उन्होंने चिकित्सा चिकित्सा कर्मी व सफाई कर्मियों का भी हाल चाल जाना। केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री श्री चौबे ने कहा कि एम्स की ओर सभी आशा भरी नजरों से देखते हैं। किसी भी मरीज को परेशानी ना हो इसका विशेष ध्यान रखा जाए। उन्होंने दिन-रात सेवा में तत्पर रहने के लिए चिकित्सा चिकित्सा कर्मी एवं सफाई कर्मियों को भी बधाई दी। वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए एम्स निदेशक सहित अन्य अधिकारी बैठक में उपस्थित हुए। सधन्यवाद,

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here