मझौलिया के दो क्वारंटाइन कैम्प में रह रहे व्यक्तियों से रूबरू हुए जिलाधिकारी एवं पुलिस अधीक्षक

शाहीन सबा की रिपोर्ट
बेतिया, 25 मई। पश्चिम चंपारण के जिलाधिकारी कुंदन कुमार एवं पुलिस अधीक्षक, बेतिया निताशा गुड़िया आज दो क्वारंटाइन सेंटरों कस्तूरबा गांधी उच्च विद्यालय, मझौलिया एवं उत्क्रमित मध्य विद्यालय, पारस पकड़ी, मझौलिया में रह रहे प्रवासी व्यक्तियों से रूबरू हुए। इस दरम्यान प्रवासी व्यक्तियों ने जिलाधिकारी के साथ स्किल मैपिंग के क्षेत्र में विस्तृत जानकारियां साझा की गयी।
कस्तूरबा गांधी उच्च विद्यालय, मझौलिया में रह रहे प्रवासी मो.फिरोज ने जिलाधिकारी को बताया कि वह कपड़ा पर नक्काशी आदि कार्य करने के कार्य में दक्ष है। वह दिल्ली में यह कार्य करके अच्छा पैसा कमा लेता था। जिलाधिकारी द्वारा पूछे जाने पर कि अगर उसे सारी सुविधाएं यही मुहैया हो जाय तो वह कहां काम करना पसंद करेगा। इस पर फिरोज ने बोला कि मैं अपने जिले में ही रहकर इन्ब्राॅडरी का कार्य करना पसंद करूंगा।

इसी क्वारंटाइन सेंटर में रहने वाले रहमान ने बताया कि वह बाहर में कुर्ती तैयार कर उसे अन्य जगहों पर निर्यात करता था। अब वहां का काम धंधा बंद हो गया है तो उसके सामने बहुत बड़ा संकट आ गया है। उसकी रोजी-रोटी कैसे चलेगी।

जिलाधिकारी ने रहमान को भी आश्वस्त किया कि आपलोग जिस-जिस क्षेत्र में एक्सपर्ट हैं, उसी क्षेत्र में आपको रोजगार मुहैया कराने की पूरी कोशिश सरकार एवं जिला प्रशासन द्वारा की जायेगी और आपको रोजगार भी अवश्य मुहैया करायी जायेगी। इसी तरह बागड़ राम, अरबाज आदि ने भी अपने हुनर के बारे में बताया तथा इस बात पर संतुष्ट दिखा कि सरकार एवं जिला प्रशासन द्वारा उसे भी जीवोकोपार्जन हेतु रोजगार उपलब्ध कराया जायेगा।
उत्क्रमित मध्य विद्यालय, पारस पकड़ी क्वारंटाइन सेंटर में रह रहे प्रवासियों ने जिलाधिकारी को बताया कि बाहर में वे जिंस का पैकेजिंग कर उसे रिटेलर को भेजते थे जिससे उन्हें अच्छी खासी कमाई हो जाती थी। अब उनके सामने भी जीविकोपार्जन का संकट खड़ा हो गया है। इस पर जिलाधिकारी ने कहा कि आप सभी जहां काम करते थे वहां के आॅनर से बात करें, उनको लाइनप करें कि अगर इसी जिलें में जिंस तैयार करके उपलब्ध करा दिया जाय तो उसे विक्रय करने में परेशानी तो नहीं होगी।
जिलाधिकारी, श्री कुंदन कुमार ने प्रवासियों से कहा कि सरकार के निदेशानुसार जिला प्रशासन स्किल मैपिंग का कार्य युद्धस्तर पर करा रहा है। प्रवासी व्यक्तियों को उनके स्किल के अनुसार इसी जिले में रोजगार उपलब्ध कराया जायेगा। उन्होंने कहा कि 5-10 प्रवासी व्यक्ति मिलकर उद्यमी मित्र मंडली बनाये। मंडली के सभी सदस्य आपस में बैठक कर विचार-विमर्श करें कि वो जिस रोजगार में महारत है, उसे इसी जिले में शत-प्रतिशत सफलतापूर्वक कैसे किया जा सकता है। सरकार द्वारा सारी सुविधाएं उपलब्ध करायी जायेगी।
जिलाधिकारी द्वारा क्वारंटाइन कैम्पों में रहने वाले प्रवासियों से प्रोडक्शन लाइन, मार्केटिंग लाइन आदि के बारे में विस्तारपूर्वक चर्चा की गयी। इस दरम्यान प्रवासी व्यक्ति काफी खुश दिखे। जिलाधिकारी ने उन्हें आवश्स्त किया कि शीघ्र ही उन्हें उनके हुनर के अनुसार इसी जिले में रोजगार दिलाया जायेगा।
इस अवसर पर एसडीएम, बेतिया, विद्यानाथ पासवान, बीडीओ, मझौलिया, चंदन कुमार, थानाध्यक्ष, कृष्ण मुरारी गुप्ता आदि उपस्थित रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here