प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मुख्यमंत्रियों से मीटिंग में कहा कि लॉकडाउन के पहले चरण में जिन नियमों की दरकार थी, वो दूसरे चरण में जरूरी नहीं रह गईं। उसी तरह तीसरे चरण के नियमों की दरकार चौथे चरण के लॉकडाउन में नहीं है।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि लॉकडाउन के चौथे चरण में तीसरे चरण के नियमों की जरूरत नहीं है
पीएम के संबोधन से करीब-करीब स्थिति साफ हो गई है कि 17 मई के बाद भी लॉकडाउन खत्म नहीं होगा
पीएम मोदी के बयान के मुताबिक चौथे चरण में कुछ और पाबंदियां उठाई जा सकती हैं


नई दिल्ली, 12 मई. कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए
लॉकडाउन 17 मई के बाद भी जारी रहेगा, यह लगभग तय है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए मुख्यमंत्रियों के साथ बातचीत के बाद जारी बयान से करीब-करीब साफ हो चुका है कि लॉकडाउन का चौथा चरण भी होगा।

प्रधानमंत्री ने मुख्यमंत्रियों से कहा है कि वो अपने-अपने राज्यों में लॉकडाउन की कैसी व्यवस्था चाहते हैं, उसका डीटेल 15 मई तक दे दें।
चौथे चरण में तीसरे चरण के नियमों की दरकार नहीं: पीएम
कहा जा सकता है कि 17 मई को तीसरा चरण खत्म होने के बाद लॉकडाउन हटने नहीं जा रहा है। यह अलग बात है कि जिस तरह पहले के मुकाबले दूसरे चरण में और फिर दूसरे के मुकाबले तीसरे चरण में ढिलाई और छूट का दायरा बढ़ता गया, उसी तरह 17 मई के बाद चौथे चरण में प्रवेश करने पर लॉकडाउन में कुछ और गतिविधियों की अनुमति दी जाएगी।

प्रधानमंत्री कार्यालय (PMO) की तरफ से जारी बयान के मुताबिक पीएम ने कहा, ‘मेरा दृढ़ विश्वास है कि लॉकडाउन के पहले चरण में जिन नियमों की दरकार थी, वो दूसरे चरण में जरूरी नहीं रह गईं। उसी तरह तीसरे चरण के नियमों की दरकार चौथे चरण के लॉकडाउन में नहीं है।’ प्रधानमंत्री के इस बयान से संदेह की गुंजाइश नहीं के बराबर रह जाती है कि लॉकडाउन की मियाद 17 मई के बाद भी बढ़ेगी और

18 मई से लॉकडाउन का चौथा चरण शुरू हो जाएगा। उम्मीद की जा सकती है कि जल्द ही चौथे चरण के लॉकडाउन की मियाद का ऐलान भी हो जाए।

31 मई तक हो सकती है चौथे चरण की मियाद
तमिलनाडु के मुख्यंत्री के. पलानीस्वामी, बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार समेत कुछ मुख्यमंत्रियों ने 31 मई तक लॉकडाउन लागू रखने का सुझाव दिया है। वहीं, राजस्थान समेत कुछ राज्यों ने लॉकडाउन को अपने यहां 31 मई तक बढ़ाने का फैसला कर भी लिया है।


रिसर्चरों ने भी दिया था सुझाव
मुंबई की संस्था इंटरनैशनल इंस्टीट्यूट फॉर पापुलेशन साइंसेज (आईआईपीएस) की एक स्टडी में दावा किया गया है कि लॉकडाउन के कारण देश में कोरोना संक्रमण में उल्लेखनीय कमी आई है। इसमें दावा किया गया है कि अगर लॉकडाउन को 24 मई तक बढ़ाया जाता है तो इसके बढ़ने की दर एक से भी कम (0.975) रह सकती है। इसी तरह अगर लॉकडाउन को 31 मई तक बढ़ाया जाता है तो यह दर 0.945 होगी। इन सभी के मद्देनजर संभावना जताई जा सकती है कि लॉकडाउन का चौथा चरण दो सप्ताह यानी 14 दिन का होगा जो 31 मई तक चलेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here