डीएलएड नहीं मिलने पर बीएड को मिलेगा मौका पटना. बिहार में करीब 72 हजार प्राथमिक स्कूलों में कक्षा एक से पांच तक के लिए 63951 शिक्षकों के नियोजन में डीएलएड (डिप्लोमा इन एलिमेंट्री एजुकेशन) अभ्यर्थियों को प्राथमिकता मिलेगी। डीएलएड धारी की कमी पड़ने पर  और प्रारंभिक शिक्षकों सीटें खाली  होने की स्थिति में ही बीएड और इसके समकक्ष प्रशिक्षित अभ्यर्थियों को मौका मिलेगा।

शिक्षा विभाग ने इसके लिए मार्ग-निर्देश तैयार कर ली है। जल्द ही जिलों को इस संबंध में निर्देश भेजा जाएगा। अभी तक प्रारंभिक स्कूलों के कुल 90763 शिक्षकों नियोजन के लिए यह स्पष्ट नहीं किया गया है कि 1 से 5 कक्षा तक शिक्षक नियोजन के लिए डीएलएड को प्राथमिकता मिलेगी

पिछले निर्देश के अनुसार डीएलएड और बीएड दोनों के लिए समान अवसर थे। नया आदेश जिलों को जाने के बाद कक्षा 6 से 8 तक 26811 शिक्षकों की बहाली में ही बीएड और इसके समकक्ष डिग्री वालों को मौका मिलेगा। पंचायत व अन्य नियोजन इकाइयों के माध्यम से शिक्षक नियोजन की प्रक्रिया चल रही है। शिक्षा विभाग ने सभी जिलों को नियोजन इकाइयों के माध्यम से मार्च तक नियोजन प्रक्रिया पूरी करने का लक्ष्य दिया है। शिक्षकों के नियोजन के प्रशिक्षित होना यथा डीएलएड या बीएड होना अनिवार्य है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here